• October 4, 2022 8:44 am

मेवात में इलेक्ट्रिकल संबंधित उद्योगों को मिलेगा बढ़ावा – डिप्टी सीएम

मेवात में इलेक्ट्रिकल संबंधित उद्योगों को मिलेगा बढ़ावा - डिप्टी सीएम

पलवल, 21 अगस्त। हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने कहा कि आने वाले समय में पलवल-मेवात क्षेत्र की पहचान प्रगतिशील जिलों के रूप में होगी।

उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र की प्रगति की दिशा में केंद्र सरकार द्वारा मेवात में इलेक्ट्रिकल से संबंधित उद्योग लगाने के लिए 500 करोड़ रुपए मंजूर किए गए हैजिससे यहां औद्योगिक विकास को गति मिलेगी। उन्होंने ग्राम पंचायत के समक्ष प्रस्ताव रखते हुए कहा कि यदि ग्राम पंचायत सरकार को 200 एकड़ जमीन उपलब्ध करवा देती है तो सरकार यहां आधुनिक वेयर हाउस लगाने को तैयार हैl

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि मुंबई-दिल्ली सुपर हाईवे बनने से यहां बड़े-बड़े उद्योग लगेंगे और इससे स्थानीय युवाओं के लिए रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। वे रविवार को पलवल जिले के गांव कोट में जेजेपी द्वारा आयोजित जनसभा को संबोधित कर रहे थे। 

उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि हरियाणा के युवाओं को निजी क्षेत्रों में रोजगार देने के लिए नौकरियों में 75 प्रतिशत आरक्षण देने का कानून बनाया गया है और इसके लिए जल्द माननीय उच्च न्यायालय से स्वीकृति मिल जाएगी और प्रदेश के युवाओं को निजी क्षेत्र में नौकरियां के अवसर ज्यादा मिलेंगे। उन्होंने कहा कि मेवात क्षेत्र को अभी पिछड़ा क्षेत्र समझा जाता है लेकिन भविष्य में यह क्षेत्र बहुत उन्नति करेगाा।

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि इसके लिए वेयरहाउस के प्रोजेक्ट तैयार किए जा रहे हैं। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि जिस गांव की पंचायत 200 एकड़ जमीन उपलब्ध करवाएगीवहां सबसे पहला आधुनिक वेयरहाउस बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि अब इस क्षेत्र में 80 एकड़ में इलेक्ट्रिक बसें बनाई जाएंगीजिससे यहां के  युवाओं को रोजगार मिलेंगे। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि आज का समय डिजिटल तकनीक का है और मोबाइल फोन की बैटरी जो अब तक चीन व ताइवान देशों से आयात होती थीअब वही बैटरी मेवात क्षेत्र के रोजका मेव गांव में बनाई जाएंगी।

डिप्टी सीएम ने यह भी कहा कि इसके अलावा केंद्र सरकार ने क्षेत्र में इलेक्ट्रिकल से संबंधित उद्योग को बढ़ावा देने के लिए 500 करोड़ रुपए मंजूर किए है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि मेवात में शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए  हरियाणा सरकार गांवों में डिजिटल लाइब्रेरी बनाने की दिशा में कार्य कर रही है।

डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने कहा कि अंतिम व्यक्ति तक सरकार की योजनाओं व नीतियों का लाभ पहुंचाना सरकार की प्राथमिकता है और सरकार का मुख्य उद्देश्य गरीब परिवार के स्तर को ऊपर उठाना है।

उन्होंने कहा कि इसी उद्देश्य की पूर्ति के लिए सरकार ने अंत्योदय परिवार उत्थान योजना शुरू की गई है। उन्होंने कहा कि नौकरियों में ठेका प्रथा को समाप्त करके हरियाणा कौशल विकास निगम द्वारा पात्र उम्मीदवारों को रोजगार के अवसर प्रदान किए जा रहे हैजिन परिवारों की वार्षिक आय दो लाख रुपए से कम है उन्हें अंत्योदय परिवार उत्थान योजना में अपना पंजीकरण कराना होगा।

उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने किसानों से आह्वान किया कि वे मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर अपना पंजीकरण करवाएं। उन्होंने कहा कि इससे फसल बेचने के 72 घंटे के अंदर-अंदर फसल की राशि किसानों के बैंक खाते में पहुंचने की सुविधा मिलेगी।

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि अगर किसी किसान की फसल खराब हो जाती है तो उन्हें 15 हजार रुपए तक फसल खराबा होने की स्थिति में मुआवजे के तौर पर मिलेंगे। उन्होंने कहा कि अब किसानों को फसल खराबे के लिए पटवारियों के पीछे नहीं दौडना पडेगा क्योंकि किसान अपनी खराब हुई फसल का फोटो खींचकर मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर स्वयं अपलोड करेगा और उसके बाद पटवारी अपने आप सर्वे के लिए पहुंचकर किसान के रजिस्टर मोबाइल फोन पर मैसेज भेजेगा कि उसकी फसल का कितना प्रतिशत खराबा हुआ है।

इस दौरान उपमुख्यमंत्री ने क्षेत्रवासियों द्वारा रखी गई मांगों को शीघ्र से शीघ्र पूरा करवाने का आश्वासन दिया।