• January 28, 2023 6:44 pm

राज्यपाल ने विश्वविद्यालय में डिग्रियां बांटी

ByAjay Gautam

Oct 11, 2022
राज्यपाल ने विश्वविद्यालय में डिग्रियां बांटी

चंडीगढ़, 10 अक्टूबर। हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने कहा कि 2030  तक विश्व में आईटी के क्षेत्र में 30 करोड़ नौकरियों का सृजन होगा, जिसमें 10 करोड़ नौकरियों भारत में हिस्से में होगी।

यह बात उन्होंने मंगलवार को चौ0 बंसी लाल विश्वविद्यालय, भिवानी के दीक्षांत समारोह में अपने अध्यक्षीय संबोधन में कही।

उन्होंने कहा कि आज बेटियां हर क्षेत्र में बेहतर प्रदर्शन कर आगे हैं। आज मैने डिग्री और गोल्ड मेडल देते हुए यह महसूस किया कि इस सूची में 70 प्रतिशत बेटियां हैं।

उन्होंने  महिलाओं के विकास और स्वावलंबी बनने पर बधाई देते हुए कहा कि यदि महिलाएं स्वावलंबी होंगी तो वह देश भी स्वावलंबी और समृद्ध होगा।

उन्होंने कहा कि आज हमारे विद्यार्थी टेक्नोलॉजी, रिसर्च और इनोवेशन से आगे बढ़ रहे हैं। चौधरी बंसी लाल विश्वविद्यालय ने अपने गठन के मात्र कुछ वर्षों में ही शिक्षा अनुसंधान एवं खेलो के क्षेत्र में नए आयाम स्थापित कर अपनी अलग पहचान बनाई है।

राज्यपाल ने छात्रों से कहा कि वह छोटी-छोटी समस्याओं से घबराएं नहीं बल्कि उनका विश्वास के साथ हल निकालें और अनुशासित एवं चरित्रवान बनें।

उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय के विद्यार्थी टीबी मुक्त भारत और टीबी मुक्त हरियाणा  टीबी रोग का उन्मूलन करने में लोगों को अधिक से अधिक जागरूक करने में अपना महत्वपूर्ण योगदान दें।

उन्होनें विश्वविद्यालय में पौधरोपण किया और द्वितीय दीक्षांत समारोह का शुभारंभ मां सरस्वती के सामने द्वीप प्रज्वलित कर किया।

राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने विश्वविद्यालय की स्मारिका,व्यक्तित्व विकास एवं चरित्र निर्माण पाठ्यक्रम और कुल गीत का विमोचन किया।

कृषि मंत्री जयप्रकाश दलाल ने संबोधित करते हुए कहा कि आज परिवर्तन का दौर है और भारत देश तरक्की की ओर निरंतर अग्रसर है।

उन्होंने कहा कि कोरोना काल में भी भारत ने सम्पूर्ण विश्व को नई राह दिखाई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में शिक्षा की ओर विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

आज नई नई तकनीक और नई नई सुविधाएं विद्यार्थियों को प्रदान की जा रही है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार बेहतर नीतियां बनाकर शिक्षा के क्षेत्र में काम कर रही है।

उन्होंने चौधरी बंसी लाल विश्वविद्यालय द्वारा संचालित कार्यक्रमों की सराहना की और छात्रों से आह्वान किया कि वे नए आत्मविश्वास के साथ आगे बढ़े।