छात्रों के लिए पर्वतारोहण की योजना बनाएगा हरियाणा
चंडीगढ़, 30 सितंबर। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश के स्कूली छात्रों के लिए पर्वतारोहण की एक अनोखी योजना बनाई जाएगी।
इसके तहत जो छात्र पहाड़ों की सबसे ऊंची 10 चोटियों में से किसी एक की चढाई करेगा उसे 5 लाख रुपए की राशि दी जाएगी।

मुख्यमंत्री यहां स्कूल छात्रों के पर्वतारोहण दल को रवाना करने से पूर्व बातचीत कर रहे थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आजादी के 75वें अमृत महोत्सव की श्रंखला में राज्य के विभिन्न सरकारी स्कूलों के 75 छात्रों व टीचरों का दल स्कूल शिक्षा विभाग एवं नेशनल एडवेंचर क्लब चंडीगढ़ के सहयोग से हिमाचल प्रदेश के लाहौल क्षेत्र में 6111 मीटर की ऊंचाई पर स्थित माउंट यूनम पर पर्वतारोहण करने जा रहा है।
उन्होंने कहा कि हरियाणा देश का पहला राज्य है जो स्पोर्टस हब के रूप में जाना जाता है।

हरियाणा के खिलाड़ी ओलंपिक व पैरालंपिक में सबसे ज्यादा मैडल लाए हैं। इसलिए स्पोर्टस की तर्ज पर पर्वतारोहण करने वालों के लिए भी योजना बनाई जाएगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वास्तव में जीवन शिक्षा तक ही सीमित नहीं है। इसके साथ साथ अतिरिक्त गतिविधियों से नवीनतम विचार आते हैं और ज्ञान बढता है।

उन्होंने कहा कि जब हम बाहर घूमने जाते है तभी देश व दूनिया की ऊंची चोटियों का पता चलता है। मांउट यूनम पर पर्वतारोहण करके ऐसी गतिविधियों में जितना भाग लेंगे उतना ही जीवन में सफल होंगे।

उन्होंने कहा कि पर्वतारोहण में जा रहे दिव्यांग बच्चों की हिम्मत और साहस को दाद देते हैं जो पहली बार साहसिक गतिविधियों में भाग ले रहे हैं जो विश्व रिकॉड बनाकर देश व प्रदेश का नाम रोशन करेंगे।
इस पर्वतारोही दल में 25 दिव्यांग छात्र व टीचर भी जा रहे हैं।
उन्होंने कहा कि मोरनी के मल्लाह में वार्षिक कार्यक्रम होते थे लेकिन, अब स्कूल के छात्रों को पर्वतारोहण के लिए अन्य स्थानों पर भेजा जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने पर्वतारोहण दल के साथ अपने स्कूल शिक्षा के दौरान अनुभव सांझा किए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्कूल स्तर पर छात्रों के लिए पर्वतारोहण कार्यक्रमों का आयोजन पहली बार 2016 में सैनिक स्कूल कुजंपुरा के सहयोग से आरम्भ किया गया।
तब से लेकर अब तक पांच बार प्रदेश के सरकारी स्कूलों के छात्र हिमाचल के मनाली में स्थित 5289 मीटर ऊंची चोटी फ्रेंडशिप पीक की सफलतापूर्वक चढाई कर चुके हैं।

इन एडवेंचर कार्यक्रमों में भागीदारी के आधार पर राष्ट्रीय स्तर पर 2018-19 में पहला स्थान प्राप्त करने का गौरव हासिल हुआ है।

इस अवसर पर पर्वतारोहण दल की छात्रा प्रिया सैनी, अमन, दिव्यांग सुप्रिया, मूक बधिर खालिद ने कहा कि ऐसी गतिविधियों को चित्रों के माध्यम से ही देखते थे लेकिन सरकार ने इसे वास्तविक रूप दिया है। इसके लिए उन्होंने पूरे दल की ओर से मुख्यमंत्री का आभार जताते हुए कहा कि वे अवश्य ही सफल होकर चोटी पर 75 मीटर का राष्ट्रीय ध्वज फहराएंगे। मुख्यमंत्री ने पर्वतारोहण दल को राष्ट्रीय ध्वज भेंट किया।

इस मौके पर नेशनल एडवेंचर क्लब के चेयरमैन एवं पूर्व मुख्य सचिव एससी चौधरी ने क्लब गतिविधियां बताई।
निदेशक माध्यमिक शिक्षा जे. गणेशन, निदेशक मौलिक शिक्षा अंशज सिंह, अतिरिक्त निदेशक माध्यमिक शिक्षा विवेक कालिया सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।